रांची(RANCHI): 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के दिन झारखंड के 32 परिवारों की खुशी दोगुनी होने वाली है. स्वतंत्रता दिवस पर राज्य के पांच केंद्रीय कारा से 32 कैदी रिहा होंगे. राज्य सरकार ने इन सभी कैदियों की शेष सजा माफ कर दी है. राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिया है. राज्य के बिरसा मुंडा केद्रीय कारा से 10, हजारीबाग के जयप्रकाश नारायण केद्रीय कारा से 12, घाघीडीह केद्रीय कारा से 3, गिरीडीह केद्रीय कारा से एक और दुमका स्थित केद्रीय कारा से 6 कैदी शामिल हैं.

ये भी देखें:

2024 विधानसभा चुनाव क्यों नहीं लड़ पायेंगे मंत्री सत्यानंद भोक्ता, जानिए पूरा मामला

ये 32 कैदी होंगे रिहा

बिरसा मुंडा केद्रीय कारा से राजेद्र साहू (65), विद्याधर पातर (60), बिरसा सिंह (47), संजय भगत (26), मंटू साहू (37), विमल साहू (40), बुद्धेश्वर साहू (48), अयूब अंसारी (44), तेबूं उरांव (53) और परासण गुड़िया (33) रिहा किये जायेंगे. जयप्रकाश नारायण केद्रीय कारा हजारीबाग से सुगवा उर्फ सुगिया देवी (65), मकबूल अंसारी (73), इशाक मियां (66), यमुना सोनार (77), काशीनाथ महतो (65), कृष्णा बेहरा (29), गंगाधर मंडल (51), राजू रवानी (27), राजू भूइयां (25), मो इरफान अंसारी (39), पंकज दुबे उर्फ संतोष दुबे (38) और अजय सिंह (31) रिहा होंगे. घाघडीह सेट्रल जेल से सुचानंद सिंह (41), शत्रुध्न सिंह (31) और अकल सिंह (26) रिहा किये जायेंगे. गिरिडीह सेट्रल जेल से रियाज अंसारी (37), दुमका केद्रीय कारा से जैनुल शैख (48), बलबीर कुंवर (26), फूले भंडारी (58), सोमा बेसरा (55), गुरु प्रसाद महतो (51) और राजकिशोर मंडल (59) को छोड़ा जायेगा.